Wednesday, August 12, 2015

धर्म-देश पर राज करना है इसलिए पढ़ो!


जमींदारों-किसानों को अपने बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित करने हेतु यह नहीं कहना चाहिए कि खेती बुरा या कठिन काम है, इसमें कुछ नहीं रखा इसलिए पढ़ो, अपितु यह कहके पढ़ने को प्रेरित करना चाहिए कि आपको हर धर्म-जाति सम्प्रदाय के लोगों पर राज करना है इसलिए पढ़ो|

कार्य तो कोई भी ऐसा नहीं होता जो कठिन ना हो अथवा जिसका कोई बुरा पहलु ना हो| कहते हैं कि आप जो भी कार्य करते हैं उसका आदर करना सबसे पहले जरूरी होता है, इसलिए अपने ही कार्य को बुरा बता कर किसान अपने बच्चों में अपनी छवि तो खराब करते-ही-करते हैं साथ ही उनके अंदर असंतुष्टि और हीन भाव भी भर देते हैं|

जय योद्धेय!- फूल मलिक

No comments: